कार का एक्सिडेंट हो जाए तो घबराएं नहीं, अपनाएं ये तरीके

कार का एक्सिडेंट हो जाए तो घबराएं नहीं, अपनाएं ये तरीके
May 11 11:52 2017 Print This Article

आप कार चलाते वक्त कई बातों का ध्यान रखते हैं। अपनी सुरक्षा के साथ साथ सड़क पर चल रहे लोगों की सुरक्षा का ध्यान भी रखना पड़ता है। कई बार सड़क पर चलते वक्त कई लोग दुर्घटना का शिकार भी हो जाते हैं। कार दुर्घटना के कई कारण हो सकते हैं।

इन दिनों देश में सड़क दुर्घटनाओं की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हो रही है। ऐसी दुर्घटना में लोग गंभीर रूप से घायल हो जाते हैं और कई हादसों में लोगों की दर्दनाक मौत भी हो जाती है। दुर्घटना की स्थिति में कभी भी घबराना नहीं चाहिए। दुर्घटना छोटी हो या बड़ी, हमेशा संयम और समझदारी से काम लें। हम आपको बताते हैं कि ऐसी स्थिति में आपको सबसे पहले किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

1. यदि कार दुर्घटनाग्रस्त हो जाए तो सबसे पहले आप कार से बाहर निकलने की कोशिश करें। ये कोशिश तभी करें जब आप शारीरिक तौर पर ऐसा करने के लिए सक्षम हों। बाहर निकलने के बाद अगर संभव हो तो अपनी कार की पार्किंग लाइट को ऑन कर दें।

2. अगर संभव हो तो कार को धक्का देकर सड़क के किनारे पर ले जाएं ताकि बाकी गाड़ियों को निकलने का रास्ता मिल सके।

3. अगर दुर्घटना की वजह से आप, आपके साथ बैठा व्यक्ति, दूसरी गाड़ी में बैठे लोग या रास्ते में चल रहा कोई व्यक्ति घायल हो जाए तो तुरंत इमरजेंसी नंबर को कॉल करें ताकि आप तक तुंरत मेडिकल सेवा पहुंच सके। ऐसी स्थिति में पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंच जाएगी।

4. अगर दुर्घटना बड़ी नहीं है और इसकी वजह से किसी को चोट नहीं पहुंची है तो परेशान ना हों। तुरंत पुलिस को दुर्घटना की जानकारी दें। ज्यादातर मामलों में पुलिस घटनास्थल पहुंच कर मामले की छानबीन करती है।

5. अगर आपके लिए संभव हो तो दुर्घटनास्थल की तस्वीरें खींच लें। इससे आपकी कार को हुए नुकसान का अंदाजा मिल जाएगा। इंश्योरेंस क्लेम के वक्त आपको इन तस्वीरों की ज़रूरत पड़ सकती है।

6. अगर आपको थोड़ी सी भी चोट लगी है तो इसे गंभीरता से लें। तुरंत किसी नजदीकी अस्पताल में संपर्क करें। ऐसे हादसों में आपकी गर्दन, पीठ और छाती में अंदरूनी चोटें आ जाती हैं जिसका तुरंत पता नहीं चलता। इसलिए ऐसी चोटों का ध्यान रखें और डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

8. दुर्घटना की जानकारी देते हुए नज़दीकी पुलिस स्टेशन में एक एफआईआर (FIR) ज़रूर दर्ज करवा लें।

9. कार इंश्योरेंस कंपनी से बात करें और दुर्घटना के बारे में पूरी जानकारी दें। ऐसी स्थिति में इंश्योरेंस कंपनियां आपकी मदद के लिए अपने एजेंट को दुर्घटनास्थल पर भेजती हैं।

अभी कोई कमेन्ट नही!

कमेन्ट लिखें

Your data will be safe! Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.
All fields are required.