Article "tagged" as:

लंबी बीमारी के बाद मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन

लंबी बीमारी के बाद मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन
March 17 22:01 2019 Print This Article

Goa – नई दिल्ली। लंबी बीमारी के बाद गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का आज रविवार की शाम निधन हो गया। मनोहर पर्रिकर 63 साल के थे। पर्रिकर अग्नाशय की गंभीर बीमारी से पीड़ित थे। पर्रिकर के निधन से पूरा देश शोकाकुल है। बीमारी का पता चलने के ठीक एक साल बाद मनोहर पर्रिकर का पणजी आवास पर निधन हो गया। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने ट्वीट कर कहा, “गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन पर अत्यंत दुख हुआ है। घंटों पहले, पर्रिकर के कार्यालय ने ट्वीट किया था कि उनकी स्थिति “अत्यंत गंभीर” थी और “डॉक्टर अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं”। पिछले एक साल में गोवा, मुंबई, न्यूयॉर्क और नई दिल्ली के अस्पतालों में उनका इलाज चलता रहा था।

अग्नाशय की गंभीर बीमारी से पीड़ित थे पर्रिकर

मनोहर पर्रिकर को फरवरी 2018 में उनके अग्नाशय की गंभीर बीमारी के बारे में पता चला था। मनोहर पर्रिकर एक ईमानदार और सादगी भरा जीवन जीने वाले नेता के तौर पर हमेशा याद किए जाएंगे। आईआईटी बॉम्बे से ग्रेजुएट पर्रिकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सक्रिय प्रचारक थे। वह तीन बार गोवा के मुख्यमंत्री रहे। अग्नाशय की गंभीर बीमारी से पीड़ित होने के बावजूद वे कभी अपनी जिम्मेदारियों से पीछे नहीं हटे। उन्होंने कहा था कि मानव मस्तिक किसी भी बिमारी पर जीत पा सकता है।

अमेरिका से सितंबर में इलाज कराकर भारत लौटे थे पर्रिकर

पर्रिकर सितंबर में अमेरिका से इलाज कराकर भारत लौटे थे। वहां एक हफ्ते तक उनका इलाज चला था। इससे पहले एक बार और इलाज के लिए तीन महीने तक उन्हें अमेरिका में रहना पड़ा था। अमेरिका से लौटने के बाद पिछले साल अक्टूबर में एक बार फिर उनकी तबीयत खराब हुई थी। तब उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। एक महीने एम्स में भर्ती रहने के बाद उन्हें एयर एंबुलेंस के जरिए गोवा ले जाया गया था।
मनोहर पर्रिकर के निधन पर केन्द्रीय मंत्री वीके सिंह ने ट्वीट संवेदना जताई और कहा कि उनकी कमी हमेशा खलेगी। उनकी जगह कोई नहीं ले सकता। वीके सिंह ने कहा कि वे एक ऐसे नेता थे जो कठिन समस्याओं का प्रैक्टिकल समाधान लाते थे। गोवा और भारत ने आज एक महान सपूत को खो दिया है।

शनिवार से ही आने लगी थी पर्रिकर के तबीयत नाजुक होने की खबरें

गोवा के मंत्री विजय सरदेसाई ने कल यानि बीते शनिवार को मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर से मुलाकात की थी। मुलाकात के बाद उन्होंने कहा था कि पर्रिकर का स्वास्थ्य बिगड़ा है लेकिन स्थिर बना हुआ है। सरदेसाई गोवा के पांच विधायकों के साथ पर्रिकर के निजी आवास पर उनसे मिलने पहुंचे थे। पर्रिकर से मिलने पहुंचे सभी विधायक राज्य की भाजपा नीत सरकार के सहयोगी हैं। इनमें गोवा फॉरवार्ड पार्टी के जयेश सलगांवकर और विनोद पाल्येकर और निर्दलीय रोहन खौंते, गोविंद गावडे और प्रसाद गावंकर शामिल थे।

डोना पौला स्थित पर्रिकर के निजी आवास से निकलते हुए सरदेसाई ने संवाददाताओं से कहा कि मुख्यमंत्री का स्वास्थ्य बिगड़ा है, लेकिन स्थिर है। उन्होंने कहा, जब बीमारी का पता चला था तो मुख्यमंत्री ने पद छोड़ने की इच्छा जताई थी, उस वक्त हमने स्थाई समाधान और स्थिरता की मांग की थी। अब उनका स्वास्थ्य बिगड़ा है, लेकिन हम उनके साथ हैं। उनका स्वास्थ्य स्थिर है। मुझे उनकी बीमारी के स्तर का ज्ञान नहीं है।

सरदेसाई ने कहा कि वह जीवनरक्षण प्रणाली पर नहीं हैं। मुझे नहीं पता कि मेडिकल में इस अवस्था के लिए क्या कहेंगे। मुख्यमंत्री कार्यालय का कहना है कि उनकी हालत स्थिर है, इसलिए हम मान रहे हैं कि वह स्थिर हैं।

  Article "tagged" as:
  Categories:

अभी कोई कमेन्ट नही!

कमेन्ट लिखें

Your data will be safe! Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.
All fields are required.