शॉर्ट फिल्म के लिए महंगे कैमरे और बड़े बजट की जरूरत नहीं

शॉर्ट फिल्म के लिए महंगे कैमरे और बड़े बजट की जरूरत नहीं
November 20 23:22 2018 Print This Article

Film- इंटरनेशनल अवॉर्ड विनिंग शॉर्ट फिल्म ‘छोटू’ की स्क्रीनिंग के साथ ही फिल्म प्रोडक्शन पर एक सेशन भी ऑर्गेनाइज 
भोपाल। रिसोर्सेस कम हों, महंगे और बड़े कैमरे न हों, तब भी एक अच्छी शॉर्ट फिल्म बन सकती है। बस आपको अवेलेबल रिसोर्सेस को यूटिलाइज करना अाना चाहिए। कई इंटरनेशनल अवॉर्ड जीत चुकी शॉर्ट फिल्म ‘छोटू’ इसका लाइव एक्जाम्पल है। मंगलवार को चूना भट्‌टी स्थित सेंट्रल कैफे में हाल ही में रिलीज फिल्म छोटू की स्पेशल स्क्रीनिंग की गई।

यह फिल्म सोनी लिव एप और जियो सिनेमा पर रिलीज हुई है। स्क्रीनिंग के साथ ही बडिंग फिल्म डायरेक्टर्स और इंडस्ट्री के लोगों के लिए मेडबोक्स मीडिया की ओर से एक टॉक शो का भी आयोजन किया गया। इसमे 40 से ज्यादा लोग मौजूद थे। इस फिल्म की कहानी इसमें अभिनय करने वाले राघव दिवान की रिलय लाइफ स्टोरी है।

इस फिल्म को अभिषेक के नायर ने को-प्रोड्यूस किया है। इसमें कोलकता की एक्ट्रेस शीना चोहान ने लीड रोल प्ले किया है। वहीं इंदौर के धैवत बैंड ने इस फिल्म का प्रमोशनल सॉन्ग तैयार किया है। यह फिल्म लोंस एंजिलिस, सिनेफेस्ट 2018, मिआमि इंडी फेस्टिवल  2018, अब इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल, 2018, फ़िल्मसाज़ 2018, वर्जिन स्प्रिंग सिनेफेस्ट, कलकत्ता कल्ट फिल्म फेस्टिवल 2018 में कई पुरस्कार जीत चुकी है।

टॉक शो में राघव ने बताया कि फिल्म प्रोडक्शन और एडिटिंग के लिए कई अच्छे एप और टूल्स अवेलेबल हैं, जिसके इस्तेमाल से मोबाइल पर ही बेहतर क्वालिटी की शॉर्ट फिल्म बना सकते हैं। एक बेहतर फिल्म बनाने के लिए सबसे अहम बात उसका आईडिया होता है उसके बाद उसकी शूटिंग ओर डायरेक्शन। मैडबॉक्स में एडिटर आकाश श्रीवास्तव ने बताया कि, ‘लोगों के दिमाग में बसा हुआ है की शॉर्ट फिल्म ज्यादा कमाई नहीं कर सकती उसे कोई खरीदता नहीं है, यह भी एक मिथ है। यदि आपका कंटेंट ओर आइडिया अच्छा है, तो आपकी फिल्म को चलने से कोई नहीं रोक सकता।

ऐसी कई छोटी-छोटी बातें हैं, जिनका ध्यान रखके फिल्म को बेहतर मोनेटाइज़ कर सकते है। जैसे ओवर थे टॉप (ओ टी टी) जिसमे आप मल्टी सिस्टम को इन्वॉल्व किए बिना भी ब्रांडिंग कर सकते है साथ ही इनफ्लाइट डिस्ट्रीब्यूशन और सरफेस डिस्ट्रीब्यूशन भी कारगर साबित होते है।’ ‘कास्ट ऑफ़ प्रोडक्शन सबसे महत्वपूर्ण बात है खासतौर पर शोर्ट फिल्म को बनाते हुए कास्ट ऑफ़ प्रोडक्शन को कभी ज्यादा न रखें। शॉर्ट फिल्म्स को फिल्म फेस्टिवल्स के लिए भेजें। साथ ही यूट्यूब और दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी रिलीज़ करें।

अभी कोई कमेन्ट नही!

कमेन्ट लिखें

Your data will be safe! Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.
All fields are required.