लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में जगह बनाई नुक्कड़ मैराथन “ज़िन्दगी का तमाशा” ने

लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में जगह बनाई नुक्कड़ मैराथन “ज़िन्दगी का तमाशा” ने
March 16 15:13 2019 Print This Article

Nukkad Marathon- भोपाल। 27 जुलाई 2018 को भोपाल के 77 स्थानों पर 16 युवायों की ऊर्जावान टीम ने “जिंदगी का तमाशा” नाटक का मंचन किया। इस नुक्कड़ मैराथन को हाल ही में लिम्का बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में एक स्थान मिला है। यह मैराथन नॉन स्टॉप 23 घंटे 30 मिनिट तक चली जिसकी शुरुवात रात 12 :15 में किलोल पार्क से हुई और शहर के विभिन्न स्थानों से होते हुए भोपाल के आनंद नगर पर समाप्त हुई थी। दरअसल यह आयोजन अंश हैप्पीनेस सोसाइटी और यूनिसेफ मध्यप्रदेश के यूथ फॉर चिल्ड्रेन प्रोग्राम यूनिसेफ मध्य प्रदेश के अंतर्गत किया गया था।

Ansh happiness society

इस नाटक को सम्योमोय देबनाथ और साहिल खान के निर्देशन एवं अनिल गुलाटी ,संचार विशेषज्ञ ,यूनिसेफ मध्य प्रदेश एवं डॉ. समीर पवार, पोषण विशेषज्ञ, यूनिसेफ मध्य प्रदेश के मार्गदर्शन में किया गया था। इस इवेंट में यूनिसेफ इंडिया की प्रतिनिधि डॉ. यास्मीन अली हक़ भी शामिल हुई थी। प्रत्येक नुक्कड़ नाटक की अवधि 8 मिनिट की थी।

गौरतलब है कि नुक्कड़ मैराथन की थीम बच्चे के शुरुवाती 1000 दिनों पर केन्द्रित थी जो स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण होते है। इस दौरान बच्चे को उचित देखभाल , टीकाकरण ,स्तनपान एवं पोषण की जरुरत होती है। यह नाटक टीकाकरण, स्तनपान, संस्थागत प्रसव और बच्चे के स्वास्थ्य की देखभाल के बारे में आम मिथकों को तोड़ने के बारे में समाज में जागरूकता फ़ैलाने का एक सशक्त माध्यम बन चुका था। इसके साथ ही नाटक में बच्चों के सम्बन्ध में रूढ़िवादी सोच और परम्परायो को तोड़ने के लिए एक मजबूत संदेश दिया गया था।

Ansh happiness society

इस नुक्कड़ नाटक की कहानी एक ऐसे परिवार पर केन्द्रित है जिसमें माता –पिता जानकारी के अभाव आज भी पुरानी मान्यतायों और परम्परायों को महत्व देते हैं और बुआ के कहने पर अपनी नवजात बच्ची को जन्म के बाद स्तनपान की जगह शहद चटा देते है जिससे उसकी तबियत बिगड़ जाती। अंश हैप्पीनेस सोसाइटी के मोहसिन खान ने बताया कि लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स के लिए इस पूरी मैराथन का वीडियो व फोटो डॉक्यूमेंटेशन , पुलिस डेटा ,मीडिया न्यूज़ कटिंग्स और क्लिप दिया गया था।

इस नुक्कड़ मैराथन की टीम में साहिल खान, पूजा मालवीय, शुभम शर्मा, गौरनविक सिंह, कंचन विश्वास, नीरू दिवाकर, साईम खान, रुजुता मराठे, इम्तियाज खान, अमृता शर्मा, शिवम अवस्थी, विशाल पांडे, सुधा पांडे , दिव्यांशु मिश्रा, ज़ुहैर शेरवानी, हेमा शास्त्री ने भाग लिया था। सभी कलाकारों ने एक महीने पहले से अभ्यास करना शुरू कर दिया था जिसमें स्ट्रेचिंग, योग और थिएटर का अभ्यास शामिल है।

Ansh happiness society

अनिल गुलाटी ,संचार विशेषज्ञ ,यूनिसेफ मध्य प्रदेश ने सभी युवा समूह को उनकी इस उपलब्धि पर बधाई दी और कहा की युवाओं का यह प्रयास आगे जाकर बच्चों के मुद्दों को संवेदनशीलता के साथ उठाने में एक मील का पत्थर साबित होगा जो समाज में हो रहे बदलावो को एक गति प्रदान करेगा। उन्होंने कहा की एक स्वस्थ्य राष्ट्र के लिए जरुरी है की हम सभी बच्चों के पोषण, स्तनपान एवं टीकाकरण पर ध्यान दे जो प्रत्येक बच्चे का पूर्ण अधिकार है।

अभी कोई कमेन्ट नही!

कमेन्ट लिखें

Your data will be safe! Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.
All fields are required.