पर्यावरण के संतुलन को बनाये रखने हमें ही आगे आना होगा

पर्यावरण के संतुलन को बनाये रखने हमें ही आगे आना होगा
March 17 21:07 2019 Print This Article

Holi – इस होलिका दहन पर गोबर के कंडे व धुलेड़ी में पानी की बर्बादी रोकने पर्यावरण छात्र फाउंडेशन का विशेष अभियान शुरू

भोपाल। पर्यावरण छात्र फाउंडेशन ट्रस्ट भोपाल ने सामाजिक उत्तरदायित्व समझते हुये होलिका दहन पर गोबर के कंडे, होली व रंगपंचमी के त्यौहार पर होने वाली पानी की बर्बादी को रोकने के लिये विशेष अभियान शुरू किया।

holi

फाउंडेशन की टीम व डिस्ट्रिक्ट कोर्डिनेटर्स द्वारा इस अभियान का मुख्य उद्देश्य लोगों द्वारा होलिका दहन पर गोबर के कंडे, होली व रंगपंचमी के त्यौहार पर की जाने वाली पानी की बर्बादी को रोकना है। चूँकि होली जैसा उन्मादी त्यौहार सभी धर्मों के लोगों द्वारा मनाया जाने वाला त्यौहार है। इसलिये सेलिब्रेशन भी जमकर होता है। लोग होलिका दहन के लिये लकड़ियों का प्रयोग करते हैं। उन्हें लकड़ियों की प्रयोग कम करना चाहिए। अगले दिन होली पर पानी की बर्बादी और कैमिकल वाले रंग वातावरण को प्रदूषित भी करते हैं।

holi

फाउंडेशन पर्यावरण को बचाने के लिये कृत संकल्पित हैं। इसी कड़ी में फाउंडेशन ने पर्यावरण को बचाने के लिये एक नई पहल की है। फाउंडेशन के अध्यक्ष राघवेंद्र दिवेदी व टीम के सभी साथियों ने देश व प्रदेशवासियों से विनम्र अपील की है कि वे जब भी किसी से चर्चा करें तो उस चर्चा में इस बार होलिका दहन पर गोबर के कंडों से बनी होली जलाएं और होली में पानी की बर्बादी को रोकने की बात जरूर करें।

holi

इस अभियान का मकसद होलिका दहन पर लकड़ियों के स्थान पर कंडों का प्रयोग और धुलेड़ी लोगों में पानी की बर्बादी को रोकना ही है। इसलिये जो जहां है वो वहीं से इस अभियान में अपना योगदान दे सकता है। सभी को पर्यावरण के संतुलन को बनाये रखने व पानी की बर्बादी रोकने के इस पुण्य काम में अपना योगदान जरूर देना चाहिए।

अभी कोई कमेन्ट नही!

कमेन्ट लिखें

Your data will be safe! Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.
All fields are required.